कार्यालय योग विभागाध्यक्ष शासकीय योग प्रशिक्षण केन्द

योग का इतिहास - योग प्राचीन भारतीय परम्परा एवं संस्कृति की अमूल्य देन है। भारतीय संस्कृति में योग विद्या का महत्वपूर्ण स्थान है। भारतीय दर्शन को स्पष्ट करने वाले 6 दर्शनों में से 1 योग दर्षन है। योग शास्त्र बहुत प्राचीन शास्त्र है महर्षि पतंजलि ने ईसा से 200 वर्ष पहले योग शास्त्र की रचना सूत्र रूप में की थी। उनके पूर्व योग विषयक जानकारी विभिन्न ग्रंथों वेदों आदि में बिखरे हुए रूप में थी। बाद के काल में उपनिषद, संहिता, हठ योगप्रदीपिक,घेरण्ड संहिता, शिव संहिता जैसे अलग-अलग ग्रंथों में योग का विस्तार पाया जाता है योग शास्त्र मानवजाति के लिए वरदान है। यह अभ्यास शरीर एवं मन; विचार एवं कर्म; आत्मसंयम एवं पूर्णता की एकात्मकता तथा मानव एवं प्रकृति के बीच सामंजस्य स्थापित करता है तथा यह स्वास्थ्य एवं कल्याण का पूर्णतावादी दृष्टिकोण है। योग केवल व्यायाम नहीं है, बल्कि स्वयं के साथ, विश्व और प्रकृति के साथ एकत्व खोजने का भाव है। योग हमारी जीवन शैली में परिवर्तन लाकर हमारे अन्दर जागरूकता उत्पन्न करता है तथा प्राकृतिक परिवर्तनों से शरीर में होने वाले बदलावों को सहन करने में सहायक हो सकता है।

योग प्रशिक्षण केन्द्र का पता :- डी-103/3, रेडक्रास हॉस्पिटल के पास, लिंक रोड नं.-1, शिवाजी नगर, भोपाल। फोनः- 0755-2574828, ई-मेल :- gytc.mpbhopal@gmail.com

योग छात्रावास का पता :- राज्य स्तरीय शासकीय योग प्रशिक्षण केन्द्र भोपाल के प्रशिक्षणार्थियो की आवास व्यवस्था हेतु तुलसी नगर, भोपाल में मयूर पार्क के पीछे आवास क्र. एच 92ए/73 से 84 तक छात्रावास एवं मैस उपलब्ध है। जिसमें प्रशिक्षणार्थियों की आवास एवं भोजन व्यवस्था की जाती है।

योग प्रशिक्षण केन्द्र के क्रियाकलाप :-

1

यह केन्द्र शटकर्म, योगासन, सूर्य नमस्कार, यौगिक स्थूल सूक्ष्म व्यायाम, प्राणायाम, मुद्रा, बंध एवं ध्यान आदि विषयों का प्रायोगिक एवं सैद्धांतिक प्रशिक्षण देता है।

2

केन्द्र प्रदेश की शासकीय शालाओं में पदस्थ शिक्षकों हेतु 1 माह का मासिक योग प्रशिक्षण सत्र संचालित करता है। प्रशिक्षण सम्भागवार आयोजित होते हैं। प्रत्येक सत्र में 50 स्थान शिक्षकों के लिए उपलब्ध होते हैं।

3

योग केन्द्र आम नागरिकों को भी 1 माह का मासिक योग प्रशिक्षण प्रदान करता है। आयोजित किये जाने वाले प्रत्येक मासिक प्रशिक्षण सत्र में 10 स्थान उपलब्ध होते हैं। इच्छुक व्यक्ति हायर सेकण्डरी परीक्षा उत्तीर्ण हो तथा शारीरिक रूप से स्वस्थ हो।

4

योग केन्द्र आम नागरिकों के लिए प्रतिदिन योग की प्रायोगिक कक्षा प्रातः 6:00 से 7:00 तक निःषुल्क संचालित करता है। जिसमें विद्यार्थी, गृहणियां, वरिष्ठ नागरिक, सेवा-निवृत्त अधिकारी/कर्मचारी, समाजसेवी, कामकाजी महिला-पुरूष, पत्रकार, एवं व्यवसायी सम्मिलित होते हैं।

5

नियमित प्रशिक्षण सत्रों के अतिरिक्त योग केन्द्र विभागीय अधिकारियों एवं प्राचार्यों के लिए 13 दिवसीय प्रारम्भिक स्तरीय सत्र भी आयोजित करता है जो सामान्यतः ग्रीष्म अवकाश में होते हैं उक्त सत्र भी संभागवार आयोजित किये जाते हैं।

6

योग केन्द्र पूर्व प्रशिक्षित शिक्षकों के लिए उच्च स्तरीय प्रशिक्षण(एडवांस कोर्स) एवं उन्मुखीकरण प्रशिक्षण आयोजित करता है।

7

म.प्र. शासन के भव्य आयोजन ‘‘सामूहिक सूर्य नमस्कार’’ जो प्रतिवर्ष युवा दिवस 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर पूरे प्रदेश में एक समय, एक संकेत पर आयोजित किया जाता है। उक्त आयोजन में योग केन्द्र प्रशिक्षण, मार्गदर्शन एवं सहभागिता करता है।

8

भारत सरकार के भव्य कार्यक्रम ‘‘अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस’’ 21 जून के राज्य स्तरीय समारोह में योग केन्द्र कार्यक्रम पूर्व प्रशिक्षण, तकनीकी सहयोग एवं सहभागिता करता है।

9

स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इण्डिया द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित किये जाने वाले शालेय खेल कूद प्रतियोगिता में योग की जिला स्तरीय, सम्भाग स्तरीय एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन विभाग के निर्देशानुसार योग केन्द्र द्वारा किया जाता है।

10

म.प्र. शासन की योग नीति 2007 के उद्देश्यों की पूर्ति हेतु योग केन्द्र अपनी गतिविधियों के माध्यम से प्रयासरत है एवं योग शिक्षा के क्षेत्र में किये जाने वाले विभिन्न कार्यों में योग केन्द्र सहभागिता एवं सहयोग करता है।

11

वर्ष 2017-18 से मधुमेह एवं उच्च रक्तचाप नियंत्रण का प्रशिक्षण (3 माह) आरम्भ किया गया है।

योग प्रशिक्षण केन्द्र की उपलब्धियां :- - योग केन्द्र द्वारा अपनी स्थापना के पश्चात् से निरन्तर त्रैमासिक/मासिक/पाक्षिक/ उन्मुखीकरण/13 दिवसीय/10 दिवसीय योग प्रशिक्षण सत्रों के माध्यम से जन सामान्य, छात्र-छात्राओं, शिक्षकों एवं अधिकारियों को योग प्रशिक्षण दिया गया है।

TOP